Friday, January 16, 2009

Chocolate Sherpa in Hindi

चॉक्लेट शेरपा
« इस दुनिया में सबसे अधिक चॉक्लेट चखने वाले नेपाल में एक मोबाइल हॉस्पिटल स्थापित करने के लिए धन एकट्ठा करने हेतु  »


परियोजना:

लूयिस-फिलिप लोंकके , बेल्जियम साहसी, अपने अगले अभियान की तैयारी कर रहा हैं :

काठमांडू और एवरेस्ट आधार शिविर ( नेपाल) के बीच 400 किमी ट्रेक में दुनिया के सबसे अधिक चॉक्लेट चखने वालो को व्यवस्थित करने का एक प्रयास हैं.

यह दुनिया भर के मीडीया कवरेज के साथ एक अनोखी घटना हैं.

और यह एक बेल्जियन की कहानी हैं जो दुनिया में बेल्जियम की छवि को बहाल करेगा!

चॉक्लेट शेरपा का उद्देश्य नेपाल में एक मोबाइल हॉस्पिटल के लिए धन एकत्र करना हैं. यह हॉस्पिटल नेपाल के दूरस्थ क्षेत्रो के लिए देखभाल एवं शल्य चिकित्सा की सुविधा प्रदान करेगा

हॉस्पिटल के लिए मानवीय परियोजना:

आठ साल तक नेपाल हड्डी रोग हॉस्पिटल (काठमांडू) में सलाहकार के रूप में कार्य करने के बाद एवं युवा नेपाली सर्जन को प्रशिक्षित करने के बाद , एक बेल्जियन सर्जन एवं उनके नेपाली दोस्त, नेपाल में एक मोबाइल हॉस्पिटल स्थापित करने की योजना बना रहे हैं. इस तरह की सुविधा से विभिन्नक्षेत्रो को जोड़ने में एवं ट्रक और हेलिकॉप्टर द्वारा सामान पहुचने में सुविधा होगी. इससे डॉक्टर को दूरस्थ क्षेत्रो में पहुचने में आसानी भी हो जाएगा. एक माह तक चलने वाला यह अभियान 5000 लोगो को देखभाल एवं 250 लोगो को शल्य चिकित्सा की सुविधा प्रदान करने में सक्षम हो जाएगा. अनुमान यह हैं की मूल उपकरण की कीमत लगभग 250 000 यूरो एवं एक माह के इस अभियान में कुल खर्च लगभग 50 000 यूरो का होगा.

नेपाल के कई क्षेत्रो में सड़को से पहुचना बहुत ही दुर्गम हैं एवं इस प्रकार इन ग़रीब क्षेत्रो में देखभाल प्रदान करना एक जटिल काम हैं. लोग राजधानी तक पहुचने में लगने वाले लागत एवं समय के कारण , राजधानी पहुचने में असमर्थ हैं. मोबाइल हॉस्पिटल को धन्यवाद हो जिसके कारण सामान्य एवं विशेष देखभाल प्रदान करना संभव हो जाएगा

विनोदी, मानव एवं सांस्कृतिक चुनौती:

चॉक्लेट शेरपा का यह दल काठमांडू से एवरेस्ट के आधार शिविर तक 400 किमी चलेगा और 200 किलोग्राम चॉक्लेट वितरित करेगा. इस लंबी यात्रा के कारण यह दल शेरपा आबादी से मिलने में सक्षम हो पायेगा और उन लोगो के साथ कुछ गहन छण व्यतीत कर पाएगा जो दशको से पश्चिमी देशो के उपकरण को ढोह रहे हैं. यात्रा के दौरान कुली और शेरपा में चॉक्लेट वितरित किया जायेगा. शेष 100 किलोग्राम अनूठा चॉक्लेट चखने के दौरान 5350 मीटर की दूरी पर वितरित किया जाएगा. इस वर्ष की इस अवधि के दौरान , आधार शिविर 500 से 1000 शेरपो एवं अंतरराष्ट्रिए पर्वतारोहियो के बीच वह गाँव हैं जो दुनिया के छत के शिखर तक पहुचने का प्रयास कर रहे हैं.

इस अभियान का उद्देशय दुनिया भर के मीडीया कवरेज के द्वारा उन कॉर्पोरेट प्रायोजोको को संतुष्ट करना हैं जो मोबाइल हॉस्पिटल के लिए धन दान करेंगे. शेरपो को अपने लक्ष्य तक पहुचने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए धन एकत्रित करने का दूसरा तरीका निजी दान हैं